Latest Current Affairs

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने दूसरे चरण की बैलिस्टिक मिसाइल डिफेन्स (BMD) इंटरसेप्टर AD – 1 मिसाइल का पहला उड़ान परीक्षण सफलतापूर्वक किया

हाल ही में, भारत के रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने दूसरे चरण की बैलिस्टिक मिसाइल डिफेन्स (BMD) इंटरसेप्टर AD – 1 मिसाइल का पहला उड़ान परीक्षण सफलतापूर्वक किया• यह परीक्षण ओडिशा तट के एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप से किया गया था• विभिन्न भौगोलिक स्थानों पर स्थित सभी बीएमडी हथियार प्रणाली तत्वों की भागीदारी के साथ उड़ान परीक्षण किया गया था• गौरतलब है कि कार्यक्रम के चरण 1 को 2010 के अंत में पूरा किया गया था.

AD-1 (वायु रक्षा) मिसाइल:यह लंबी दूरी की इंटरसेप्टर मिसाइल है

यह लंबी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों के साथ-साथ विमान के कम एक्सो वायुमंडलीय और एंडो- वायुमंडलीय अवरोधन दोनों के लिए डिज़ाइन किया गया है,मिसाइल दो चरणों वाली ठोस मोटर द्वारा संचालित है

यह स्वदेशी रूप से विकसित उन्नत नियंत्रण प्रणाली और नेविगेशन से लैस है

India Successfully Conducted Maiden Flight Test Of Phase-II Ballistic  Missile Defence Interceptor AD-1 Missile - DRDO ने बैलिस्टिक मिसाइल डिफेंस इंटरसेप्टर  AD-1 के दूसरे फेज का किया सफल परीक्षण ...

इसमें वाहन को उन लक्ष्यों तक सटीक रूप से मार्गदर्शन करने के लिए एक मार्गदर्शन एल्गोरिदम है जो बहुत तेज गति से चलते हैं
इस प्रणाली को बैलिस्टिक मिसाइल रक्षा कार्यक्रम के तहत विकसित किया गया है।
यह दुनिया के बहुत कम देशों के लिए उपलब्ध उन्नत तकनीकों के साथ एक अद्वितीय प्रकार का इंटरसेप्टर है
यह देश की बीएमडी क्षमता को और अधिक मजबूत करेगा 

शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के राष्ट्र प्रमुखों की परिषद की 21वीं बैठक आयोजित की गई

2- – हाल ही में, नवंबर की पहली तारीख़ को शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के राष्ट्र प्रमुखों की परिषद की 21वीं बैठक आयोजित की गई
■ यह बैठक वर्चुअल मोड में आयोजित की गई
• इस बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने किया
अपने संबोधन में डॉ. जयशंकर ने SCO क्षेत्र के साथ भारत के मजबूत सांस्कृतिक और ऐतिहासिक जुड़ाव का उल्लेख किया,उन्होंने खाद्य और ऊर्जा सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन, व्यापार और संस्कृति के क्षेत्रों में बहुपक्षीय सहयोग को बढ़ाने की दिशा में भारत की प्रतिबद्धता को भी दोहराया

उन्होंने 20 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वैश्विक मिशन ‘LIFE’ (Lifestyle for Environment) के शुभारंभ और खाद्य एवं ऊर्जा सुरक्षा सुनिश्चित करने की दिशा में इसकी प्रासंगिकता की भी चर्चा की
‘विदेश मंत्री ने जलवायु परिवर्तन की चुनौती से लड़ने में भारत की प्रतिबद्धता और इस दिशा में उपलब्धियों की ओर भी ध्यान आकर्षित किया•  उन्होंने महामारी के बाद आर्थिक मोर्चे पर भारत की मजबूत रिकवरी को भी
 रेखांकित किया , डॉ. जयशंकर ने उचित बाजार पहुँच के आधार पर भारत और SCO के बीच व्यापार के विस्तार में भी रुचि प्रकट की
■ इस बैठक में SCO सदस्य देश, पर्यवेक्षक राज्य, SCO के महासचिव, SCO के क्षेत्रीय आतंकवाद विरोधी संरचना के कार्यकारी निदेशक, तुर्कमेनिस्तान और अन्य शामिल हुए

– SCO (शंघाई सहयोग संगठन) के बारे में:

इसकी स्थापना की घोषणा 15 जून, 2001 को हुई जबकि संगठन 19 सितम्बर 2003 से सक्रिय हुआ

इसके मुख्यालय एवं सचिवालय दोनों ही बीजिंग, चीन में हैं इसकी आधिकारिक भाषा रुसी एवं चीनी है
• जून 2017 के अस्ताना शिखर सम्मेलन के दौरान भारत इस संगठन का सदस्य बना
• SCO के राष्ट्रप्रमुखों की परिषद इसकी शीर्ष निर्णयकारी निकाय है

यू. एस. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के शोधकर्ताओं द्वारा मलेरिया के खिलाफ एक प्रायोगिक एंटीबॉडी विकसित की गई है

3- हाल ही में, यू. एस. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के शोधकर्ताओं द्वारा मलेरिया के खिलाफ एक प्रायोगिक एंटीबॉडी विकसित की गई है
यह शोध ‘New England Journal of Medicine में प्रकाशित हुआ था
• इस अध्ययन के द्वारा लोगों को प्रयोगशाला निर्मित मलेरिया से लड़ने वाली एंटीबॉडी की एक बड़ी खुराक देकर एक अलग दृष्टिकोण का परीक्षण किया
इस शोध में 330 वयस्कों को शामिल किया गया, जिन्हें दो अलग अलग एंटीबॉडी खुराक दी गईं

First Human Trial of Monoclonal Antibody to Prevent Malaria Opens | NIH:  National Institute of Allergy and Infectious Diseases
 24 सप्ताह तक हर दो सप्ताह में एक बार मलेरिया संक्रमण के लिए सभी का परीक्षण किया गया
प्लेसीबो मेडिसिन प्राप्त करने वाले लोगों की तुलना में एंटीबॉडी की खुराक प्राप्त करने वाले लोगों में कम संक्रमण पाया गया
• नई एंटीबॉडी के बारे में:
 यह एंटीबॉडी परजीवी के जीवन चक्र को तोड़ने का काम करती है, जो मच्छर के काटने से फैलता है। यह यकृत (लीवर) में प्रवेश करने से पहले अपरिपक्व परजीवियों को लक्षित करती है
इसे एक स्वयंसेवक (volunteer) से ली गई एंटीबॉडी से विकसित किया गया था जिसे मलेरिया का टीका लग चुका था ।

3 नवंबर, 2022 को पहला बायोस्फीयर रिज़र्व के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस (International Day for Biosphere Reserves) मनाया गया

4- • 3 नवंबर, 2022 को पहला बायोस्फीयर रिज़र्व के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस (International Day for Biosphere Reserves) मनाया गया
• इस दिवस की घोषणा यूनेस्को द्वारा 2021 में अपनी आम सभा (General Conference) के 41वें सत्र में की गई थी
• इस अवसर पर सतत विकास हेतु बायोस्फीयर रिज़र्व के योगदान को प्रदर्शित करने वाले विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया
• यह मैन एंड द बायोस्फीयर (MAB) कार्यक्रम की 50वीं वर्षगाँठ के दो साल के उत्सव के अंत को भी चिह्नित करता है।• MAB कार्यक्रम 1971 में शुरू किया गया यूनेस्को का सबसे पुराना अंतर सरकारी वैज्ञानिक कार्यक्रम है

पहला अंतर्राष्ट्रीय बायोस्फीयर रिजर्व दिवस 2022 - GS TIMES HINDI
 इसका उद्देश्य लोगों और उनके वातावरण के बीच संबंधों को बढ़ाने के लिए वैज्ञानिक आधार स्थापित करना है
बायोस्फीयर अथवा जैवमंडल रिज़र्व :
• यह यूनेस्को द्वारा प्राकृतिक और सांस्कृतिक परिदृश्यों के सांकेतिक भागों के लिये दिया गया एक अंतर्राष्ट्रीय पदनाम है
 इसमें स्थलीय, समुद्री और तटीय पारिस्थितिकी तंत्र शामिल हैं।बायोस्फीयर रिज़र्व, राष्ट्रीय सरकारों द्वारा नामित किए जाते हैं और उन राज्यों के संप्रभु अधिकार क्षेत्र में रहते हैं जहाँ वे स्थित हैं
इसके तीन मुख्य क्षेत्र हैंकोर, बफ़र और संक्रमण

अन्य प्रमुख बिन्दु
• बायोस्फीयर रिज़र्व का वैश्विक नेटवर्क (WNBR ), MAB का एक फ्लैगशिप कार्यक्रम है

विश्व का पहला बायोस्फीयर रिज़र्व 1979 में स्थापित किया गया था• वर्तमान में दुनिया भर के 134 देशों में 738 बायोस्फीयर रिज़र्व हैं, जिनमें 22 ट्रांसबाउंड्री साइट शामिल हैं
इनमें से भारत में 12, श्रीलंका में चार और मालदीव में तीन शामिल हैं
बता दें कि दक्षिण और मध्य एशिया MAB नेटवर्क (SACAM) 2002 में बनाया गया था
 इसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, ईरान, कजाकिस्तान, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका शामिल हैं।

 वर्ष 2020-21 की तुलना में वर्ष 2021-22 में प्राथमिक, उच्च प्राथमिक और उच्चतर माध्यमिक स्तरीय स्कूल शिक्षा में सकल नामांकन अनुपात में सुधार
वर्ष 2021-22 में आठ लाख से अधिक नई छात्राओं ने नामांकन किया
 वर्ष 2021-22 में SC, ST, पिछड़ा वर्ग और विशेष आवश्यकता वाले बच्चों का नामांकन बढ़ा
वर्ष 2021-22 के दौरान स्कूली शिक्षा में संलग्न 95.07 लाख शिक्षकों में 51% से अधिक संख्या शिक्षिकाओं की फिट इंडिया स्कूल के तहत 33% स्कूलों को प्रमाणित किया गया आदि

UDISE+ के विषय में :
• पूरा नाम यूनिफाइड डिस्ट्रिक्ट इंफॉर्मेशन सिस्टम फॉर एजुकेशन प्लस
• UDISE+, UDISE का एक अद्यतन और उन्नत संस्करण है
• UDISE यानी ‘यूनिफाइड डिस्ट्रिक्ट इंफॉर्मेशन सिस्टम फॉर एजुकेशन’ को 2012-13 में शुरू किया गया था
जो प्रारंभिक और माध्यमिक शिक्षा के लिए DISE को एकीकृत करता है• UDISE+, वर्ष 2018-19 में शिक्षा मंत्रालय के अंतर्गत स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग द्वारा विकसित किया गया था
• यह एक ऑनलाइन डाटा संकलन प्रणाली है
• इसका उद्देश्य आँकड़ों की कागज़ी कार्रवाई आधारित पुराने ढर्रे से उत्पन्न होने वाले झंझटों से मुक्ति पाना है
• यूडाइस + प्रणाली के ज़रिये खासतौर से डाटा संकलन, डाटा आकलन और ster प्रमाणीकरण संबंधी कार्यों में सुधार हुआ हॉ

संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (FAO) द्वारा स्टेट ऑफ़ फ़ूड एंड एग्रीकल्चर 2022 रिपोर्ट जारी की गई

6- • हाल ही में संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (FAO) द्वारा स्टेट ऑफ़ फ़ूड एंड एग्रीकल्चर 2022 रिपोर्ट जारी की गई

• यह रिपोर्ट FAO के प्रमुख वार्षिक प्रकाशनों में से एक है
 इसका उद्देश्य खाद्य और कृषि के क्षेत्र में महत्त्वपूर्ण मुद्दों के संतुलित विज्ञान आधारित आकलन को व्यापक पहुँच प्रदान करना है
• 2022 की यह रिपोर्ट, कृषि स्वचालन के संचालकों का आकलन करती है, जिसमें हाल की डिजिटल तकनीकें भी शामिल हैं• यह दुनिया भर में विभिन्न कृषि उत्पादन प्रणालियों में डिजिटल स्वचालन प्रौद्योगिकियों को अपनाने के लिए व्यावसायिक मामले का विश्लेषण करती है
रिपोर्ट के प्रमुख बिंदु:
• यह 27 केस स्टडीज़ के आधार पर तैयार की गई है
• इसके अनुसार, 27 सेवा प्रदाताओं में से केवल 10 ही लाभदायक व आर्थिक रूप से टिकाऊ हैं, जोकि ज़्यादातर उच्च आय वाले देशों में आधारित ऐसे समाधानों का उपयोग करते हैं जो परिपक्व चरण में हैं

संयुक्त राष्ट्र खाद्य एवं कृषि संगठन - विकिपीडिया
• यह विशेष रूप से छोटे पैमाने के उत्पादकों द्वारा प्रौद्योगिकियों के समावेशी रूप से अपनाने की दिशा में बाधाओं की पहचान करती है।• इसका उद्देश्य सभी के लिए खाद्य सुरक्षा प्राप्त करना और साथ ही सक्रिय, स्वस्थ जीवन जीने हेतु लोगों को पर्याप्त उच्च गुणवत्ता वाले भोजन तक नियमित पहुँच को सुनिश्चित करना आदि है
• FAO को 100% फंडिंग अपने सदस्य देशों से प्राप्त होती है
• इसके 195 सदस्यों में से 194 देश और यूरोपीय संघ शामिल है
■ भारत 16 अक्तूबर, 1945 से इसका सदस्य है

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक हाइपर-स्केल डेटा सेंटर Yotta डेटा सेंटर के पहले टावर ‘Yotta D-1’ का लोकार्पण किया

7- • हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक हाइपर-स्केल डेटा सेंटर Yotta डेटा सेंटर के पहले टावर ‘Yotta D-1’ का लोकार्पण किया
• इसका निर्माण ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क 5 के तहत किया गया है
• यह उत्तर भारत का पहला हाइपर स्केल डेटा सेंटर है
• इसमें इंटरनेट पीयरिंग एक्सचेंज और वैश्विक क्लाउड ऑपरेटरों से सीधे फाइबर कनेक्टिविटी की सुविधा है, जो इसे वैश्विक कनेक्टिविटी के लिए बेहद उपयोगी बनाता है >

Yotta D-1 डेटा सेंटर के विषय में :
• यह अत्याधुनिक डेटा सेंटर हीरानंदानी ग्रुप द्वारा बनाया गया है
• इस डेटा सेंटर को ₹5,000 करोड़ की लागत से निर्मित किया गया है
■ इसका निर्माण 2021 की शुरुआत में हीरानंदानी समूह की मुंबई स्थित सहायक कंपनी Yotta द्वारा शुरू किया गया था
• यह नोएडा में पहला डेटा सेंटर पार्क है और तीन लाख वर्ग फुट क्षेत्र में फैला हुआ है• एक अनुमान के अनुसार, भारत का डेटा एनालिटिक्स उद्योग वर्ष 2025 तक 16 बिलियन डॉलर से अधिक तक पहुंचने का अनुमान है ।
• वर्तमान में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा डेटा सेंटर के बुनियादी ढाँचे में निवेश को बढ़ावा देने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है

1 thought on “Latest Current Affairs”

Leave a Comment

Current Affairs: Reserve Bank RBI Officers Grade B Recruitment 2023: BSF (Border Security Force) New Bharti 2023: CRPF Sub Inspector & Assistant Sub Inspector Recruitment 2023: Current Affairs: